Promotion
Khule aasmaan mein udta – Ankit Kr 5/5 (1)

खुले आसमान में उड़ता था
आज पर कटा परिंदा हूँ
तूने तो मार दिया जीते जी
मेरी माँ की बदौलत है जो मैं ज़िंदा हूँ! 

……. Ankit Kr

Please rate this

Leave a Reply