Promotion
Tu dariya main pyaasa – Md Shakir No ratings yet.

तू दरया मैं प्यास
एक बूँद बनके तू आजा
मिट जाएगी फिर
समंदर पाने की ये आस
बिखरे ज़ख़्म हैं
सहमे सिमटने को बेताब! 

…… Md Shakir

Please rate this

Leave a Reply