Promotion
Palaken bhi chamak jati 5/5 (1)

पलकें भी चमक जाती हैं सोते में हमारी,
आँखो को अभी ख्वाब छुपानें नहीं आते!

…………… बशीर बद्र

Please rate this

Leave a Reply