Promotion
Gar hui mohabbat tumse – Pankaj Shukla No ratings yet.

गर हुई मोहब्बत तुमसे एक बार फिर
तो यही बेरुखी एक बार और चाहूंगा
दिल मे तेरे कुछ हो न हो गम नही
बस तुझसे जुड़ने की वजह चाहूंगा! 

…….. पंकज शुक्ला

Please rate this

Leave a Reply