Promotion
Zindagi samajh nahi aayi to 5/5 (1)
Book Of The Day

ज़िन्दगी समझ नहीं आई तो मेले में अकेला, 
और समझ आ गई तो अकेले में मेला…. 

Please rate this

Leave a Reply